सब्र रखे – Interesting Story In Hindi

सब्र रखे – Interesting Story In Hindi – आज के युग में किसी को भी सब्र नहीं है सबको हर कम की जल्दी लगी है । जल्द बाजी में किये गए काम हमेशा दुश परिणाम देता है और सब्र से किये गए काम हमेशा मीठा फल । इसलिए हमे हमेशा सब्र करना चाहिए और शांति से निर्णय लेना चाहिए । आज हम आपको ऐसी ही एक कहानी सुनायेंगे ।

सब्र रखे - Interesting Story In Hindi

सब्र रखे – Interesting Story In Hindi

सब्र रखे

श्रावस्ती में विदेहिका नाम की एक धनि स्त्री रहती थी। वह अपने शांत और सौम्य व्यवहार के कारण दूर – दूर तक प्रसिद्ध थी। विदेहिका के घर में काली नाम का एक नौकर था। काली अपने काम और आचरण में बहुत कुशल और वफादार था।

एक दिन काली ने सोचा, सभी लोग कहते है की मेरी मालकिन बहुत शांत स्वभाव वाली है और उसे कभी क्रोध नहीं आता, यह कैसे संभव है ! शायद मैं अपने काम में इतना अच्छा हूँ इसलिए वह मुझ पर कभी क्रोधित नहीं हुई । मुझे यह पता लगाना होगा की वह क्रोदित हो सकती है या नहीं ।

अगले दिन काली काम पर कुछ देरी से आया। विदेहिका ने जब उससे विलम्ब से आने के बारे में पूछा तो वह बोला, ‘कोई खास बात नहीं ।’ विदेहिका ने कुछ कहा तो नहीं, पर उसे काली का उत्तर अच्छा नहीं लगा।

दूसरे दिन काली थोड़ा और देर से आया। विदेहिका ने फिर उससे देरी से आने का कारण पूछा। काली ने फिर से जवाब दिया, ‘कोई खास बात नहीं ।’ यह सुनकर विदेहिका बहुत नाराज़ हो गई, लेकिन वह चुप रही।

तीसरे दिन भी यही हुआ तो क्रोध में विदेहिका ने काली के सर पर डंडा दे मारा। काली के सर से खून बहने लगा और वह घर के बाहर भागा। यह बात आग की तरह फैल गई और विदेहिका की ख्याति मिट्टी में मिल गई।

कठिन परिस्थितियों में भी जो दृढ़ रहता है, वही अपनी बुराइयों पर पार पा सकता है।

काना और गाँव वाले और समय का महत्व ये दोनों कहानिया अवश्य पड़े आपको बेहद पसंद आयेंगी ।

Leave a Reply