कपूर के फायदे – Kapur Benefits In Hindi

कपूर के फायदे – Kapur Benefits In Hindi – यह सत्य है कि कपूर का हवन और अर्चना में विशेष महत्व है परन्तु इसके साथ ही कपूर अनेक तरह से हमारे शरीर को भी लाभ पहुंचा सकती है। इसलिए आज हम कपूर के औषधीय लाभकारी गुणों के बारे में आपको बताएंगे।

कपूर के फायदे - Kapur Benefits In Hindi

कपूर के फायदे – Kapur Benefits In Hindi

कपूर के फायदे – Kapur Benefits In Hindi

1) कपूर और हिंग समान मात्रा में शहद के साथ खरल करके 250-500 मिलीग्राम की गोलिया बनाकर अदरक रस के साथ 4-4 घंटे पर सेवन करने से तमक श्वास और जीर्ण कास के दौरों में लाभ होता है ।

2) कपूर को घिसकर स्त्री के स्तनों पर लेप करने से स्तनों का दूध सुख जाता है ।

3) कपूर और श्वेत चन्दन को तुलसी रस में पीसकर मस्तक्ष पे लेप करने से सिरदर्द दूर हो जाता है ।

4) कपूर को एरण्ड के तेल में खरल करके दर्द वाले स्थानों पर धीरे धीरे मालिश करते रहने से कटिशूल, संदिशूल और नाढ़ीशूल में लाभ होता है ।

5) कपूर को रुमाल में बांधकर सूंघते रहने से जुकाम ठीक हो जाता है ।

6) 250-500 मिली ग्राम कपूर और कला जीरा । 1 ग्राम का मिश्रण दिन में 2-3 बार शहद के साथ चाटने से गर्भाशय शूल एवं कष्टातर्व में लाभ होता है ।

7) कपूर को स्प्रिट में घोलकर रुई का फाहे में भिगोकर बिछु के काटे हुआ स्थान पर लगाने से विष का प्रभाव कम हो जाता है।

8) सरसों के तेल में कपूर को घोटकर छाती पर मालिश करने से निमोनिया और छाती के दर्द में लाभ होता है ।

9) कपूर को दांतों के निचे दबाकर रखने से दात का दर्द ठीक हो जाता है ।

10) डाली वाली कपूर 250-750 मिली ग्राम पान में रखकर स्त्रियो को खिलाने से प्रसवोतर एवं प्रसवकालीन वेदना धिक्य में लाभ होता है ।

11) कपूर को खोपरे के तेल में मिलाकर लगाने से शीत पित में लाभ होता है ।

12) 2-2 रती हिंग और कपूर शहद के साथ चाटने से श्वास, मूर्छा और उदार विकार ठीक हो जाते है ।

13) 24 औंस शुद्ध मथसार स्प्रिट में 4 औंस कपूर मिलाकर इस अर्क की 10 से 20 बुँदे बताशे में टपकाकर या पानी में मिलाकर सेवन करने पर अजीर्ण आव दस्त और विशुचिका, पेट की मरोड़ में लाभ होता है ।

14) 1 रती कपूर और डेढ़ ग्राम कचे बेल का चूर्ण मिलाकर सुबह शाम छछ के साथ सेवन करने से अतिसार रोग ठीक हो जाता है।

15) मुलहटी 1 ग्राम और 2 रती कपूर मिलाकर सुबह शाम शहद के साथ सेवन करने से गले की खराश और खासी दूर होती है।

यदि आपको यह नुस्के फायदे मंद लगे तो कृपया गुड और चिरौंजी के फायेदे पड़ना से ना चूंके ।

Leave a Reply