Moral Stories in Hindi – मोरल स्टोरी इन हिंदी

यहाँ आपको नैतिक कहानियां का एक बड़ा संग्रह मिलेगा । दुनिया के सभी क्षेत्रों से, इस संग्रह को हमारी संस्कृति की सच्ची भावना का प्रतिनिधित्व करने के लिए बनाया गया है। हमारे रेखांकित सिद्धांत होंगे सत्य, प्रेम, आपसी सम्मान, धर्म, ईमानदारी, दिव्यता, प्राथमिकता सामाजिक एकता इत्यादि । बुजुर्ग लोगों सहित सभी लोगों को, इन कहानियों को पढ़ने में आनंद आयेगा । आप अपने दोस्तों के साथ इन कहानियों को साझा कर सकते हाँ ।

छोटी कहानियों के माध्यम से, हमारे विचार मानव संस्कृति की महानता का उदाहरण देकर स्पष्ट करने के लिए है। कहानियों के माध्यम से हम हमारे जीवन के विभिन्न पहलुओं को जान सकते हैं। हम लोगों से आग्रह करते है, कहानियों ध्यान से पढ़ें और और इन मोरल वैल्यूज को अपनी ज़िन्दगी में अमल लाये ।

Moral Stories in Hindi - मोरल स्टोरी इन हिंदी

Moral Stories in Hindi – मोरल स्टोरी इन हिंदी

मोरल कहानियों वो है जो बचपन में पड़ी जाती हाँ, जिससे आत्मा शुद्ध और स्पष्ट हो, और हमारे जीवन के बाकी समय भी याद किया जाता रहे। इन कहानियो का स्त्रोत बताना काफी कठिन होगा क्युकी ये विभिन देशो से आयी हाँ । हम सबसे लोकप्रिय नैतिक कहानियों में से कुछ की सूची, उन्हें चित्रों के साथ प्रस्तुत करेंगे, युवा मन के लिए। नीचे दिए गए इंडेक्स में से सेलेक्ट करे और अपनी पसंदीदा कहानी पड़े और उन्हें अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करे ।

Short Moral Stories in Hindi

शेर और चुआ की कहानी

lion-and-mouse-story

एक बार जब एक शेर, जंगल का राजा, सो रहा था, एक छोटे सा चूहा उसका ऊपर इधर उधर भाग रहा था । तभी शेर उठ गया और उसका ऊपर अपना पंजा रखा और अपना बड़ा सा मुह उसे खाने के लिए खोला ।

“माफ करना, हे राजा!” छोटे चूहे रोया। “इस बार मुझे माफ कर दो। मैं इसे कभी नहीं दोहराऊंगा और मैं आपकी दयालुता कभी नहीं भूलूंगा । और कौन जानता है, मैं किसी दिन आपके काम आ जाऊ !”

शेर ने इसलिए माउस से अपना पंजा उठा लिया और उसे जाने दिया ।

कुछ समय बाद, कुछ शिकारियो ने शेर पर कब्जा कर लिया, और एक पेड़ से उसे बांध दिया। उसके बाद वे एक वाहन की तलाश में चला गया, उसे चिड़ियाघर में ले जाने के लिए।

छोटा चुआ तभी वहा से गुज़र रहा था । शेर की दुर्दशा देखकर वह उसके पास गया और उसकी रस्सियों को कुतर कर उसे वहा से मुक्त करदिया ।

“मैं सही नहीं था?” छोटा चुआ , शेर की मदद करके वो खुश था ।

Moral: दयालुता के छोटे कृत्यों को बहुत पुरस्कृत किया जाएगा। – Small acts of kindness will be rewarded greatly.

Moral Story For Kids In Hindi

सोने का अंडा देना वाली मुर्गी

golden-egg-hen-story

किसी समय पहले की बात है , एक आदमी और उसकी पत्नी के पास एक हंस थी जो हर दिन एक सोने का अंडा देती थी । हालांकि वो भाग्यशाली थे, परन्तु वे जल्द ही काफी तेजी से अमीर नहीं हो रहे थे तो उन्होंने सोचना शुरू किया।

उन्होंने सोचा कि यदि पक्षी गोल्डन अंडे देने में सक्षम है, उसके अंदर सब कुछ सोने का बना होना चाहिए। और उन्होंने सोचा कि अगर उन्हें एक बार में सब कीमती धातु मिल सकता है, वे बहुत जल्द ही ताकतवर अमीर हो जायेंगे । तो आदमी और उसकी पत्नी पक्षी को मारने का फैसला कर लेते है।

पर उसे काटने के बाद उन्हें पता चलता है की उसके अन्दर सब सामान्य है जो एक पक्षी में होता है और वो इस तरह उस गोल्डन अंडे को भी खो देता हाँ जो उन्हें रोज़ मिलता था!

Moral: अभिनय से पहले सोचना – कुछ भी करने से पहले सोचना चाहिए – Think Before You Act

Small Stories in Hindi with Moral

खरगोश और कछुए की कहानी

rabbit-and-tortoise-story

एक बार एक खरगोश को उसके तेज़ भागने पे बहुत घमंड होता है । उसके घमंड को देख के एक कछुआ थक गया और कछुआ एक दौड़ के लिए उसे चुनौती दे देता है । जंगल में सभी जानवर उनको देखने के लिए एकत्र हुए।

खरगोश थोड़ी देर के लिए भागा और और फिर आराम करने के लिए रुका गया । उसने पीछे कछुआ को देखा और चिल्लाया, “आप कैसे इस दौड़ को जीत सकते हो जब आप अपनी धीमी से चल रहे है साथ जीतने की उम्मीद करते हैं ?”

खरगोश आराम करते करते सो गया ।

कछुआ चलता रहा, जब तक वह खत्म लाइन के निकट नहीं आया।

जानवर कछुआ को देख इतनी जोर से खुश हो रहे थे कि उन्होंने खरगोश को उठा दिया। खरगोश उठा और भागने के लिए शुरू किया, लेकिन बहुत देर हो चुकी थी। कछुआ पहले से ही फिनिश लाइन को पार कर चूका था।

Moral: धीमे और स्थिर दौड़ जीतता है – Slow and steady wins the race

Moral Stories for Childrens in Hindi

छोटे बचे और उसके गुस्से की कहानी

fence-and-boy-story

एक छोटे से गाँव में, एक छोटा लड़का अपने पिता और मां के साथ रहते थे। उन्होंने कहा कि छोटे लड़के के माता-पिता उसके गुस्सा होने के कारण बहुत उदास थे। लड़का बहुत जल्द गुस्सा हो जाता था । उसका बुरा गुस्सा उसके शब्द थे जो कि दूसरों को चोट देते थे। उसने बच्चों, पड़ोसियों और यहां तक कि अपने क्रोध के कारण दोस्तों को डांटा। उसके माता-पिता भी उसके बारे में वास्तव में चिंतित थे।

उनकी मां और पिता ने उसे कई बार अपने गुस्से पर काबू और दया को विकसित करने की सलाह दी। दुर्भाग्य से, उनके सभी प्रयास विफल रहे। अंत में, लड़के के पिता एक विचार के साथ आये ।

एक दिन, उसके पिता ने उसे किलों का एक बड़ा बैग दे दिया । उन्होंने कहा कि अबसे वो जब भी गुस्सा होगा तो एक किल बहार जाके उस फेंस में थोक देगा । लड़के ने यह मनोरंजक पाया और कार्य को स्वीकार कर लिया।

हर बार वह अपना आपा खो देता, वह फेंस के लिए दौड़ता और एक कील ठोक देता । उनका गुस्से से पहले दिन फेंस पर 30 किल लग गया ! अगले कुछ दिनों के बाद, फेंस पर अंकित किया किलों की संख्या आधे से कम हो गयी थी। लड़का बहुत मुश्किल ही किल ठोकपाता और उसने अपने गुस्से को नियंत्रित करने का निर्णय लिया।

धीरे-धीरे फेंस पे अंकित किये किलों की संख्या कम हो गए और दिन आ गया जब कोई कील अंकित नहीं किया गया! अगले कई दिनों के लिए, वह अपना आपा नहीं खोता, और इसलिए किसी भी कील को नहीं ठोका ।

अब, उसके पिता ने उसे बताया की वो एक किल हटा सकता है जितनी बार लड़का अपने गुस्से को नियंत्रित करेगा । कई दिन बीत चुके हैं और लड़का फेंस से किल बाहर निकलने में सक्षम था। हालांकि, वहाँ कुछ किल है जो वह बाहर नहीं खींच सका ।

लड़का इसके बारे में अपने पिता को बताता है । पिता ने उसकी सराहना की और उसे एक छेद दिखाया, ओर इशारा करते पूछा, “क्या तुम बता सकता हो की वह क्या दिख रहा है?”

लड़के ने कहा, “फेंस में एक छेद!”

पिता ने लड़के से कहा, “किल तुम्हारा बुरा स्वभाव थे और वे लोगों पर अंकित किये गए । तुम किल को हटा सकते हैं, लेकिन फेंस में छेद बना रहेगा। फेंस अब कभी पहला जैसा नहीं दिखेगा । उसपर हर जगह निशान ही निशान है । कुछ किल भी बाहर नहीं निकाले जा सकते है। आप एक चाकू के साथ एक आदमी पर वार कर सकते हैं, और बाद में सॉरी कहते हैं, लेकिन घाव वहाँ हमेशा के लिए रहेगा। आपका बुरा गुस्सा और गुस्से में कहे गए शब्द उसी तरह थे ! शब्द शारीरिक शोषण की तुलना में अधिक दर्द देते है! अच्छे उद्देश्यों के लिए शब्दों का प्रयोग करें। रिश्तों को विकसित करने के लिए उन का प्रयोग करें। प्यार और अपने दिल में दया दिखाने के लिए उन का प्रयोग करें! ”

Moral: निर्दयी शब्द स्थायी कारण नुकसान देता है: हमारे शब्द दयालु और मिठास भरे होने चाहिए – Unkind words cause lasting damage: Let our words be kind and sweet

Moral Stories in Hindi for Teenagers

अमीर और गरीब

boy-and-dad-in-village-story

एक बार एक रिच आदमी अपने बेटे को घुमाने के लिए विलेज ले जाते है। वो उसे दिखाना चाहता है की कोई कितना गरीब हो सकता है। उसके पिता उससे कहते है तुमने देखा वो कितने गरीब है ।

बेटे ने कहा क्या मतलब पिताजी ।
हमारे पास एक कुता है और उनके पास चार
हमारे पास लालटेन है और उनका पास स्टार्स
हम खाना करीदते है और वो उसे खुद ग्रो करते है
हमारे पास वाल्स है हमे प्रोटेक्ट करने का लिए उस और उनके पास दोस्त है उनकी प्रोटेक्शन का लिए
हमारे पास इनसाइक्लोपीडिया है और उनके पास बाइबिल

धन्यवाद् पिताजी ये दिखआने के लिए की हम कितने गरीब है ।

Moral: केवल पैसा ही नहीं है जो हमे आमिर बनाता है सिर्फ जीवन में भगवान के होने की सादगी ही सब कुछ है – It’s not about money that make us rich, its about simplicity of having god in our lives.

New and Latest Moral Story in Hindi

डॉग ओनर और शोप्कीपेर की कहानी

dog-and-shopkeeper-story

एक रात जब एक दुकानदार अपनी दुकान बंद कर रहा था, एक कुता उसकी दुकान में उसके पास आया।
कुत्ता अपने मुंह में एक बैग पकड़े हुए था। कुत्ता बैग देने के लिए दुकानदार की ओर चला । दुकानदार समझ गया कि कुत्ते क्या करने की कोशिश कर रहा है और बैग ले लिया। जब दुकानदार ने बैग खोला, बैग में पैसे और वस्तुओं की एक सूची को देखा।

दुकानदार ने पैसे रखे और बैग में सूची पर लिखी सभी वस्तुओं को रखा दिया । इसके तत्काल बाद कुत्ते ने बैग को उठाया। दुकानदार कुत्ते की कार्रवाई देख कर हैरान था। उसने अपनी दुकान बंद कर दि और कुत्ते के मालिक से मिलने का फैसला किया और कुत्ते का पीछा किया ।

दुकानदार कुत्ते का पीछा कर रहा था, सबसे पहले कुत्ते ने बस स्टॉप पर इंतजार किया । जल्द ही बस आ गई और कुत्ता बस में बैठा । उसके बाद जब कंडक्टर आया, कुत्ते ने आगे होकर उसकी गर्दन पे बंधी बेल्ट दिखाने लगा। जब कंडक्टर ने जांच की तो उसे उसमें पैसे और एड्रेस की पर्ची मिली । कंडक्टर ने पैसा ले लिया और उसकी गर्दन वाली बेल्ट में टिकट रख दिया ।

जब बस स्टॉप पर पहुंची, कुत्ता अपनी पूंछ हिलाने का संकेत देता है कि वह नीचे उतरना चाहता है । बस रुक गयी और कुत्ता निचे उतर गया। दुकानदार अभी भी है कि कुत्ते का पीछा कर रहा था।

दुकानदार ने देखा कि कुछ दूर कुत्ते के चलने के बाद एक घर आया और उसने पैरों के साथ उस घर के दरवाजे पर दस्तक दी। एक व्यक्ति बाहर आया था जो कुत्ते का मालिक था। कुत्ते के मालिक ने कुत्ते को देखा और वह बहुत बुरी तरह से छड़ी के साथ उसे पीटना शुरू कर दिया।
दुकानदार हैरान जो कुत्ते का पीछा कर रहा था। दुकानदार कुत्ते के मालिक के पास गया और उससे पूछा, “तुम क्यों कुत्ते पिटाई कर रहे हैं?”
मालिक ने कहा, “उसने मेरी नींद ख़राब कर किया। इसके बजाय वो उसके साथ घर की चाबियाँ ले जा सकता था ! ”

Moral: लोगों की उम्मीदों का कोई अंत नहीं हैं। बस एक आप के द्वारा कि गयी गलती सब अची बातें भूलाने के लिए पर्याप्त है। There are no End to Expectations of people have from you. Just one Mistake done by you is Enough to forget all Good things done by You in Past. That’s Nature of this Material World.

Best Moral Story in Hindi

भगवान के साथ छोटे लड़के की बैठक

boy-and-old-lady-story

एक छोटा लड़का था जो भगवान से मिलना चाहता था। वह जानता था कि जहां भगवान रहते थे वहा मिलने के लिए एक लंबी यात्रा है , तो वह अपना सूटकेस पैक करता है और उसमें केक के साथ रूट बियर के छह पैक रखता है और अपनी यात्रा शुरू कर देता है । जब वह तीन ब्लॉकों को पार करता है, वह एक बूढ़ी औरत से मिलता है । वह पार्क में बैठी हुई थी और कबूतरो को घुर रही थी ।

लड़का उसके बगल में बैठ गया और अपना सूटकेस खोला। उसने ड्रिंक लेने के लिया अपना सूटकेस खोला पर जब उसने देखा की बुडिया भूकी है तो, वह उसे एक केक की पेशकश करने लगा। उसने कृतज्ञता से इसे स्वीकार कर लिया और उसको एक मुस्कान दी । उसकी मुस्कान इतनी सुंदर है कि लड़के इसे फिर से देखना चाहता था, तो उसने एक रूट बियर की पेशकश की। एक बार फिर वह उस पर मुस्कराई । लड़का खुश था! वे वहाँ पूरी दोपहर खाते और मुस्कुराते रहे , लेकिन एक शब्द नहीं कहा।

जैसे अँधेरा बड़ा और लड़के को एहसास हुआ की वो कितना थका हुआ है और उसे घर जाना चाहिए। जैसे ही वो जाने लगा उसने पीछे ममुडके देखा और उस बूढी औरत की तरफ भागा और उसे गले लगा लिया और बुडिया ने उसे खुल के मुस्कराहट दी। जब लड़के ने अपना घर का दरवाज़ा खोला और उसकी माँ ने उसका चेहरे पे ख़ुशी देखि और पूछा की वो इतना खुश क्यों हां, तो उसने कहा की आज वो भगवन से मिला और ऐसी मुस्कान उसने आज तक किसी की नहीं देखि।

इस बीच, जब बूढी औरत घर पहुची वही ख़ुशी और शांति उसके चेहरा पे थी जिसे देखकर उसके बेठे ने पूछा माँ आज आप बहुत खुश लग रहे हो। उसने कहा की आज उसने भगवन के साथ केक खाया और इतना यंग भगवन उसने आजतक नहीं देखा ।

Moral: भगवान हर जगह है। हम सिर्फ हमारी खुशी को साझा करने की जरूरत है और दूसरों को मुस्कान देना की । – God is everywhere and just need to share our happiness and make others smile.

Good moral Story in hindi

कपल इन शिप

sinking-ship-story

“एक जहाज पर युगल की एक जोड़ी जा रहे थी, अचानक जहाज एक दुर्घटना की और बड़ा और जोड़ी को जीवन बचाने के लिए नाव का उपयोग करना पड़ा । वहाँ पहुँचने के बाद उन्हें एहसास हुआ कि केवल एक ही व्यक्ति के लिए जगह थी। उस पल, पति ने अपनी पत्नी को पीछे की और धक्का दे दिया और खुद जीवनरक्षक नौका पर कूद गया। उनकी पत्नी डूबते जहाज पर खड़ीं रही और एक वाक्य चिल्लाया । ”
शिक्षक रुकी और उसके छात्रों से पूछा, “क्या आप जानते है उसने क्या चिल्लाया ?”
अधिकांश छात्रों ने उत्तर दिया, “मैं आप से नफरत करती हूँ !!”

अब, यह सभी उत्तर सुनने के बाद उसने देखा एक लड़का चुपचाप बैठे हुआ था। उसे जवाब देने के लिए कहा गया ।
लड़के ने उत्तर दिया, “शिक्षक। मेरा मानना है कि उसने चिल्लाया होगा – हमारे बच्चे की देखभाल करना “।
इसे शिक्षक सुनकर हैरान था और लड़के से पूछा, “तुमने पहले ये कहानी सुनी है?”

लड़का नहीं अपना सिर हिलाते हुए कहा, “नहीं मैं नहीं सुना है, लेकिन यही मेरी माँ ने मेरे पिता से कहा इससे पहले कि वह बीमारी की वजह से निधन हो गया ।”
शिक्षक का कहना था, “आपका जवाब सही है।”

कहानी में आगे क्या हुआ , “जहाज डूब गया, आदमी अपने घर चला गया और अकेले अपनी बेटी को बड़ा किआ। कई साल बाद मनुष्य की मृत्यु के बाद। बेटी सारा सामान इकठा कर रही थी तभी उसे एक डायरी मिला । डेयरी में उसने पाया जब उसके माता-पिता जहाज पर थे, उसकी माँ पहले से ही लाइलाज बीमारी के साथ जी रही थी (जबकि जहाज डूब रहा था) पिता के पास और कोई चारा नहीं थी उसको वहा जहाज पर छोड़ने के अलावा । ”

उस डेयरी आदमी ने लिखा कि कैसे वह चाहता था कि वह अपनी पत्नी के साथ समुद्र की तह तक डूब सकता लेकिन उनकी बेटी की खातिर वह ऐसा नहीं कर पाया ।

कहानी खत्म हो गयी था और क्लास चुप थी । टीचर को पता था कि छात्रों को कहानी का नैतिक समझ में आ गया है।

Moral: इस दुनिया में अचाई हो या बुराई हो , उसके पीछे कई जटिलता है जो समझनि बहुत मुश्किल है । इसलिए हमे उन्हें समझे बिना कोई निष्कर्ष नहीं निकलना चहिये । Of the Good and Evil in this world, There are many complications behind them which are Hard to Understand, So we should not really focus on surface and Judge anyone without understanding them first.

Funny Moral Story In Hindi

चार छात्रों की कहानी

four-students-story

एक रात चार कॉलेज के छात्र बाहर देर रात जश्न मना रहे थे और अगला दिन परीक्षण के लिए निर्धारित किया गया था जिसके लिए उन्होंने अध्ययन नहीं किया था। सुबह में, एक योजना के बारे में उन्होंने सोचा। वे खुद को तेल और गंदगी के साथ गंदा बनाने लगे । तब वे डीन के पास गये और कहा कि वे एक शादी में कल रात के लिए बाहर गए थे और वापस आ रहे थे लेकिन उनकी कार का टायर फट गया और वे कार पूरी तरह वापस धक्का देकर लाये । इसलिए वे कोई परीक्षा ददेने की स्तिथि में नहीं है ।

डीन ने एक मिनट के लिए सोचा और कहा कि वे 3 दिन के बाद फिर से परीक्षण लेंगे । उन्होंने उसे धन्यवाद दिया और कहा कि वे उस समय तक तैयार हो जाएगे ।

तीसरे दिन, वे डीन के समक्ष पेश हुए। डीन ने कहा कि , सभी चार परीक्षण के लिए अलग कक्षाओं में बैथेंगे । वे सभी सहमति थे, पिछले 3 दिनों में अच्छी तरह से तैयारी किया था।

100 अंक टेस्ट में कुल 2 प्रश्न शामिल थे।

1) आपका नाम __________ (1 अंक)

2) जो टायर फट? __________ (99 अंक)
विकल्प – (क) फ्रंट लेफ्ट (ख) फ्रंट राईट (ग) बेक लेफ्ट (घ) बेक राईट

Moral: बाकी जिम्मेदार आप भी अपने सबक सीखना होगा रहो! Be Responsible else you too will learn your lesson!

Moral Stories in Hindi for class 10-9-8-7-6-5-4-3-2-1

आइसक्रीम की एक डिश

boy-icecream-in-hotel-story

एक 10 साल का लड़का एक होटल के कॉफी शॉप में प्रवेश किया और एक मेज पर बैठ गया। एक वेट्रेस ने उसके सामने एक गिलास में पानी डाल दिया।

“कितना का एक आइसक्रीम है?”

“50 सेंट,” वेट्रेस ने उत्तर दिया।

छोटा लड़का ने उसकी जेब से बाहर अपना हाथ खींच लिया और उस में सिक्कों की एक संख्या का अध्ययन किया।

“कितना सादा आइसक्रीम का प्राइस ?” लड़के ने पूछा। कुछ लोग और एक मेज के लिए इंतजार कर रहे थे और वेट्रेस को गुस्सा आ रहा था।

“35 सेंट,” उसने कहा ।

छोटा लड़का फिर सिक्के गिना। “मैं सादे आइसक्रीम लूँगा,” ।

वेट्रेस, आइसक्रीम लाइ मेज पर रख दिया और बिल देके चली गयी । लड़का, आइसक्रीम समाप्त कर बिल का भुगतान करके चला गया।

जब वेट्रेस वापस आयी, तो उसे वह टेबल पे कुछ ऐसा दिखा की उसे रोना आ गया ।

उसकी टिप – वहाँ, बड़े तरीके से खाली पकवान के बगल में रखा था 15 सेंट ।

Leave a Reply