लालच का कलश – Small Story In Hindi

लालच का कलश – Small Story In Hindi – यह एक छोटी सी कहानी है जो की हम सबको एक बहुत प्यारी सीख दे के जाएगी । यह सीख बचे से लेकर बड़े तक प्रतेक व्यक्ति के जीवन में इसका अनुचरण होना चाहिए ताकि जीवन में संतोष बना रहे ।

लालच का कलश - Small Story In Hindi

लालच का कलश – Small Story In Hindi

लालच का कलश

एक घुड़सवार ने यह आवाज सुनी, जिस पेड़ के निचे से तुम अभी-अभी गुजरे हो, उसकी जड़ के पास सात कलश रखे हैं ।

उनमें से छह में सोना भरा है और सातवा आधा खाली है। यदि तुम इस कलश को सोने से भर दोगे तो तुम अन्य सभी कलशों के स्वर्ण के स्वामी बन जाओगे ।

यह सुनकर घुड़सवार फूला ना समाया। वह सातों कलश लेकर घर पंहुचा । अपनी पत्नी के साथ मिलकर घर में रखे सारे सोने को मिलाकर वह उस कलश को भरने लगा, पर कलश नहीं भरा।

हारकर वह घुड़सवार सातों कलशों को लेकर उसी वृक्ष के निकट पंहुचा और पेड़ पर निवास करने वाले यक्ष को पुकारकर सारी बात बता दी।

यक्ष सुनकर बोला, ‘अरे मुर्ख, यदि इन कलशों का स्वर्ण पाने इतने आसान होता तो ये कलश यहाँ कैसे रह सकते थे।

खोलकर देख, इनमें सोना नहीं पीतल भरा है और जिस आधे कलश को तू भरना चाहता था, वह लालच का कलश है जो कभी नहीं भरता ।

यह सुनकर घुड़सवार शर्मिंदा हो गया।

सीख – लालच कभी समाप्त नहीं होता और इन्सान की इच्छाए कभी पूर्ण नहीं हो सकती इसलिए हमे हमेशा जो हमारे पास है उसमें संतुस्ट होना चाहिए और अधिक लालच नहीं करना चाहिए ।

यदि आपको यह छोटी सी कहानी से प्रेरणा मिली तो ये दो कहानिया सही दिशा चुने और रस्ते का पत्थर जरुर पड़े । इनसे हमे और सीख मिलेगी जो की हमे जीवन में सही दिशा दिखाएगी और हमे सही मार्ग पर अग्रसर करेगी ।

Leave a Reply